21 Day BPSC PRELIMS PLANNER START DATE 14 November

बिहार लोक सेवा आयोग BPSC द्वारा 64 वीं संयुक्त सम्मिलित प्रतियोगिता प्रारंभिक परीक्षा (पीटी) 16  दिसंबर  को होने वाली है। अर्थात BPSC प्रारंभिक परीक्षा आयोजित होने में अब कुछ ही दिन रह गए हैं। ऐसे में BPSC प्रीलिम्स परीक्षा में सफल होने के लिए क्या रणनीति अपनाई जाये इस सन्दर्भ में GSHindi आप लोगों के समक्ष एक 21 दिन की फुल प्रूफ रणनीति पेश कर रहा है. रणनीति पेश करने के पूर्व BPSC प्रीलिम्स परीक्षा के पैटर्न और पूंछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में जानना आवश्यक और लाभकारी होगा।

(PLANNER at the Bottom of the Page)

BPSC की प्रारम्भिक परीक्षा में बहुविकल्पीय ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न आते हैं  एवं इस परीक्षा की प्रकृति केवल अर्हकारी (QUALIFYING) होती है यानि इस परीक्षा में आपके द्वारा अर्जित किए गए अंकों को मेरिट सूची में नहीं जोड़ा जाएगा।

प्रारम्भिक परीक्षा में कुल प्रश्नों की संख्या 150 होगी और प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित किया गया है यानि प्रारंभिक परीक्षा कुल 150 अंकों की होगी। परीक्षा की अवधि 120 मिनट तय की गई है।

=>THECOREIAS  की 21 दिन की रणनीति :-

चूँकि BPSC की प्रारंभिक परीक्षा में कुछ दिन ही शेष रह गए हैं इसे देखते हुए THECOREIAS  ने 21 दिन की रणनीति तैयार की है, जिसका अनुसरण करने पर निश्चित ही सफलता प्राप्त होगी.

=>क्या होगी रणनीति

– इस रणनीति के अनुसार हमनें BPSC की प्रारम्भिक परीक्षा के सिलेबस और पिछले वर्षों में पूंछे गए प्रश्न पत्रों के आधार पर सभी खण्डों के महत्वपूर्ण टॉपिक्स को 21 दिन की स्टडी प्लानिंग के माध्यम से बांटा हैं.

– आपको प्रतिदिन का प्लानिंग चार्ट उपलब्ध कराया जायेगा, जिसमे उस दिन पढ़े जाने वाले टॉपिक्स का विवरण होगा.

– यह अनिवार्य शर्त है कि प्रतिदिन के टॉपिक्स उसी दिन पढ़कर ख़त्म किये जाएँ, ताकि दूसरे दिन की रणनीतिक योजना प्रभावित न हो.

– प्रतिदिन साझा किये जाने वाले टॉपिक्स से सम्बद्ध प्रश्नों और अभ्यास प्रश्न पत्रों को सोल्व जरुर करें.

– किसी भी परीक्षा में सफलता के लिए आत्म- विश्वास अति आवश्यक तत्व माना गया है. और आत्मविश्वास मुकम्मल तैयारी से ही आता है.

हम आशान्वित हैं कि GSHindi अपने प्रयासों के माध्यम से आपकी सफलता में अवश्य सहभागी बनेगा.

=> किन – किन बातों पर ध्यान दिया जाना उचित होगा :-

– प्रारंभिक परीक्षा के पिछले सालों के प्रश्न पत्रों का विश्लेषण करते हैं तो पाते हैं, कि अधिकतर प्रश्न साइंस (Science) और टेक्नोलॉजी, कर्रेंट अफेयर्स , हिस्ट्री और संविधान से आये हुए हैं.

– साइंस (Science) खंड में अधिकतर प्रश्न जीवविज्ञान से पूंछे जाते हैं और साथ ही सामान्य विज्ञान की अवधारणायें शामिल हैं.

– निरंतर बदलते राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय परिदृश्य में समसामयिक मुद्दों के महत्व को देखते हुए कर्रेंट अफेयर्स पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है. इसके लिए आप www.gshindi.com की मासिक पत्रिका को पढ़ सकते हैं.

– इसके साथ ही राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय खबरों के साथ-साथ बिहार से जुड़ी खबरों पर खास ध्यान देना चाहिए। बिहार सरकार द्वारा चलाई जा रही सामाजिक-आर्थिक योजनाओं की जानकारी रखें.

– हिस्ट्री खंड को भी विशेष रूप से पढ़ा जाना आवश्यक है.

– पर्यावरण से जुड़े प्रश्नों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है.

=>एप्टीटियुड और मानसिक योग्यता से सम्बद्ध प्रश्न :-

– इस परीक्षा में मानसिक योग्यता जांचने के कुछ प्रश्न होते हैं जो काफी स्कोरिंग होते हैं और छात्रों को उस पर फोकस करना चाहिए। इसके अलावा बीपीएससी की परीक्षा के लिए सबसे जरूरी है गणित के प्रश्नों का जवाब देना। ध्यान रखें कि बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में गणित के प्रश्न कुछ कठिन होते हैं जो छात्रों के लिए काफी मुश्किलें पैदा करते हैं। हालांकि, यहां आप उन सवालों को नजरअंदाज भी कर सकते हैं, अगर आपकी पकड़ अन्य विषयों पर अच्छी है।

BPSC परीक्षा पैटर्न

1 प्रारंभिक परीक्षा

2 मुख्य परीक्षा

3 साक्षात्कार

=> BPSC परीक्षा 2018 का सिलेबस (प्रारंभिक परीक्षा):-

– आपको बता दें कि, BPSC परीक्षा के अंतर्गत बिहार PCS परीक्षा दो भागों में विभाजित है – पहली प्रारंभिक परीक्षा और दूसरी मुख्य परीक्षा। जो उम्मीदवार इन दोनों स्तरों की परीक्षा में सफलता प्राप्त करेंगे केवल उन्हीं उम्मीदवारों को साक्षात्कार दौर के लिए बुलाया जाएगा। इन सभी स्तरों पर उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर उनका चयन होगा यानि प्रत्येक स्तर पर आपको अपने बेहतर प्रदर्शन का परिचय देना होगा।

=>प्रारंभिक परीक्षा

– BPSC की प्रारम्भिक परीक्षा में बहुविकल्पीय ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न होंगे एवं इस परीक्षा की प्रकृति केवल अर्हकारी (QUALIFYING) होगी यानि इस परीक्षा में आपके द्वारा अर्जित किए गए अंकों को मेरिट सूची में नहीं जोड़ा जाएगा।

– कुल प्रश्नों की संख्या 150 होगी और प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित किया गया हैयानि प्रारंभिक परीक्षा कुल 150 अंकों की होगी। परीक्षा की अवधि 120 मिनट तय की गई है।

=>मुख्य परीक्षा :-

लिखित परीक्षा के लिए, BPSC मुख्य परीक्षा में कुल 4 पेपर्स होंगे।

१. हिंदी

२. सामान्य अध्ययन पेपर 1

३. सामान्य अध्ययन पेपर 2

४. वैकल्पिक विषय

मुख्य परीक्षा कुल 900 अंकों की होगी। हिंदी के पेपर में उम्मीदवारों को कम-से-कम 30 अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा जोकि सिर्फ क्वॉलिफाइंग अंक हैं।

विषय का  नाम अंक अवधि
सामान्य अध्ययन पेपर 1 300 3 घंटे
सामान्य अध्ययन पेपर 2 300 3 घंटे
वैकल्पिक विषय 300 3 घंटे
कुल 900 9 घंटे

नोट: हिंदी के लिए कोई अंक नहीं दिए जाएंगे।

वे सभी उम्मीदवार जो मुख्य परीक्षा सफलतापूर्वक पास करेंगे उन्हें अंतिम चरण अर्थात साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा।

=>साक्षात्कार

– प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा में सफल हुए उम्मीदवारों को साक्षात्कार दौर के लिए आमंत्रित किया जाएगा। साक्षात्कार के लिए 120 अंक निर्धारित किए गए हैं। जो उम्मीदवार दोनों परीक्षाओं यानि प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में न्यूनतम अर्हक अंक (qualifying marks) प्राप्त करेंगे वे वांछित पदों के लिए चुने जाएंगे।

=>BPSC परीक्षा 2018 का सिलेबस (प्रारंभिक परीक्षा)

– बिहार PCS परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा पास करनी होगी। BPSC प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस

1.सामान्य विज्ञान

2.राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय समसामयिकी

3.भारत एवं बिहार का इतिहास

4.भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन एवं INM में बिहार का योगदान

5.भारत एवं बिहार का भूगोल

6.भारतीय राजव्यवस्था एवं अर्थव्यवस्था

7.स्वतंत्रता पश्चात बिहार की अर्थव्यवस्था

8. सामान्य मानसिक योग्यता

The 60th to 64th Joint Combined Contest Preliminary Examination (PT) by Bihar Public Service Commission BPSC is scheduled to be held on February 12. I.e. BPSC Preliminary Examination has remained a few days now. In this context, in order to succeed in the BPSC Prelims Examination,The CORE IAS is introducing a 21-day full-proof strategy to the people. Before presenting the strategy, knowing about the patterns and questions of the BPSC Prelims examination will be necessary and beneficial.

In the preliminary examination of the BPSC, the questions of multiple choice nature come and the nature of this examination is only qualifying (i.e. QUALIFYING) i.e. the marks earned by you in this examination will not be counted for the merit list.

The total number of questions in the preliminary examination will be 150 and for each question, 1 point has been fixed i.e. the preliminary examination will be of 150 marks. The  duration of examination is fixed at 120 minutes.

=> Which points should be considered for attention: –

  • While analyzing the question papers of the previous years of the preliminary examination, we find that most of the questions come from science and technology, current affairs, history and constitution.
  • Most questions in the science section are covered with biology, as well as the concepts of general science
  • Looking at the importance of contemporary issues in the constantly changing national and international scenario, there is a need to pay more attention to current affairs. You can refer to The CORE IAS monthly magazine for this
  • In addition to this national-international news should be given proper due and special attention to the news related to Bihar. Keep an eye on the socio-economic schemes being run by the Bihar government.

 The history section also needs to be read in particular.

– The number of questions related to the environment is also increasing constantly.

=> Questions related to aptitudes and mental abilities: –

– There are some questions to examine the mental abilities in this examination which are scoring a lot and students should focus on it. Apart from this, the BPSC exam is most important for answering the questions of mathematics. Keep in mind that the questions of mathematics in BPSC Preliminary Examination are some of the difficulties that cause great difficulty for the students. However, here you can also ignore those questions, if your hold is good on other subjects.

> 21-day strategy of The CORE IAS: –

The CORE IAS has prepared a 21-day strategy considering the lack of time ,that will for sure hold you in good state if followed religiously .

=>THE STRATEGY

– According to this strategy, we have divided the important topics of all sections on the timeline of 21 days of study planning based on the preliminary examination of the BPSC and the question papers based on previous years.- You will get a daily planning chart, which will include the details of the topics you read on that day.- It is a compulsory condition that the topics of everyday should be read by the same day, so that the second day’s strategic plan is not affected.- Make sure to solve questions and practice question papers related to topics shared daily.- Self-confidence is considered to be a very essential element for success in any exam. And self confidence comes from a complete preparation.We are hopeful that The CORE IAS will surely become a part of your success through your efforts.

=> BPSC Exam Pattern1. Preliminary examination2. Main exams3. Interviews=> Syllabus of BPSC Examination 2018 (Preliminary Examination): –

– For your knowledge, under the BPSC examination, the Bihar PCS examination is divided into two parts – the first is Preliminary examination and the second is Mains exam. Only those candidates who will be successful in the examination of these two levels will be called for an interview round. All these levels will be selected based on the performance of the candidates, i.e., at every level you will have to demonstrate your best performance.

=> Preliminary Examination

– The Preliminary examination of the BPSC will be the questions of the Objective type and the nature of this examination will be qualifying only so the marks earned by you in this examination will not be added to the merit list.

– The total number of questions will be 150 and for every question, 1 mark has been fixed, ie the Preliminary examination will be of 150 marks. The exam period is of 120 minutes .

=> Mains examination: –

For the written examination, there will be a total of 4 papers in the BPSC Main Examination.

  1. Hindi
  2. General study paper 1
  3. General study paper 2
  4. Optional subject

The main exam will be a total of 900 points. In Hindi paper, it is mandatory for candidates to get at least 30 marks, which are just qualifying marks.

Note: No marks will be given for Hindi. All those candidates who successfully pass the Mains examination will be called for the final phase i.e. the interview.=> Interview- Successful in the Preliminary examination and successful candidates in main examination will be invited for interview round. 120 points have been set for the interview. The candidate who receives marks required in  both the exams i.e. the Preliminary and main examination and the minimum qualifying marks in the interview, will be selected for the desired posts.
=> Syllabus of BPSC Examination 2018 (Preliminary Examination) – Candidates will have to first pass the preliminary examination for the Bihar PCS Examination.  BPSC Preliminary Examination Syllabus 1. General science2. National and international monopoly3.History of India and Bihar4. Bihar’s contribution in the Indian National Movement and INM5. Geography of India and Bihar6.Indian Economy 7. Economy of Bihar after Independence8. General mental ability

 

PLANNER 

Day Subject Topic
14 November Introduction of Bihar Map of Bihar, Polulation, Literacy, Population density, Number of districts, Municipalities, areas etc बिहार का मानचित्र, जनसंख्या, साक्षरता, जनसंख्या घनत्व, जिलों की संख्या, नगर पालिकाओं, क्षेत्रों आदि
15 November History Ancient Bihar- Remember the sequence and important rulers, Important events प्राचीन Bihar- शाशक का अनुक्रम और महत्वपूर्ण शासकों, महत्वपूर्ण घटनाये
16 November History Medieval Bihar – Remember the sequence and important rulers, Important events मध्यकालीन बिहार – याद रखें अनुक्रम और महत्वपूर्ण शासकों, महत्वपूर्ण घटनाये
17 November History Modern Bihar – Freedom struggle and role of Bihar(Most Important)- Role of Bihar in freedom struggle, Revolutionary terrorism in Bihar, Home rule league movement, Champaran movement, Khilafat movement, Non-Coperation movement. आधुनिक बिहार – स्वतंत्रता संघर्ष और बिहार (सबसे महत्वपूर्ण) की भूमिका – स्वतंत्रता संग्राम, बिहार में क्रांतिकारी आतंकवाद, होम रूल लीग आंदोलन, चंपारण आंदोलन, खिलाफत आंदोलन, असहयोग आंदोलन में बिहार की भूमिका।
19 November History Civil disobedience movement and Bihar, Quit India movement and Bihar, swami sahjanand sarawati, Women of Bihar in freedom struggle, Sampoorna kranti and Bihar. सविनय अवज्ञा आंदोलन और बिहार, स्वतंत्रता संग्राम, संपूर्ण क्रांति और बिहार, भारत छोड़ो  आंदोलन और बिहार, स्वामी sahjanand sarawati, बिहार की महिलाओं का स्वतंत्रता में योगदान।
20 November History Various uprisings in modern Bihar – Santhal uprisings, Munda revolt, Tana Bhagat movement, Wahabi movement, Socio-religious reforms movement, The great revolt of 1857 and Bihar, Kunwar Singh role. आधुनिक बिहार के विभिन्न बगावत – संथाल बगावत, मुंडा विद्रोह, ताना भगत आंदोलन, वहाबी आंदोलन, सामाजिक-धार्मिक सुधारों आंदोलन, 1857 के महान विद्रोह और बिहार, कुंवर सिंह की भूमिका ।
21

November

Art and Culture Mauryan Art, Gupta Art, Pala Art, patna kalam painting, Madhubani Painting, jadopatia painting, Manjusha painting, Music, Dance,Drama,Festivals. मौर्य कला, गुप्ता कला, पाला कला, पटना कलाम चित्रकला, मधुबनी चित्रकारी, jadopatia पेंटिंग, मंजूषा चित्रकला, संगीत, नृत्य, नाटक, समारोह।
22 November Polity of Bihar Chief Minister,Governer,High Court,Bihar Public service Commission, State Legislature, State Executive, Centre state relations, Conflict between centre and state. मुख्यमंत्री, राज्यपाल, उच्च न्यायालय, बिहार लोक सेवा आयोग, राज्य विधायिका, प्रदेश कार्यकारिणी, केंद्र राज्य संबंधों, केंद्र और राज्य के बीच संघर्ष।
23 November Polity of Bihar Local governance in Bihar, panchayati raj and local urban Bodies, urban local government, Lokayukta बिहार में स्थानीय प्रशासन, पंचायती राज और स्थानीय शहरी निकायों, शहरी स्थानीय सरकार, लोकायुक्त
24 November Society of Bihar Social welfare Scheme in Bihar बिहार में सामाजिक कल्याण योजना
25 November Economy of Bihar Land reforms in Bihar, Important source of Income,  Agriculture of Bihar, Economic backwardness of Bihar, Industries, MSME in Bihar, New Industrial policy- Bihar. बिहार में भूमि सुधार,, बिहार की  आय का महत्वपूर्ण स्रोत , बिहार, इंडस्ट्रीज, बिहार में एमएसएमई, आर्थिक पिछड़ेपन के कारण,बिहार में कृषि , नई औद्योगिक नीति बिहार।
26 November Economy of Bihar Organic farming in Bihar, Second green revolution in Bihar, Micro- finance in Bihar, HDI, Banking system in Bihar, per capita income. बिहार में जैविक खेती, बिहार में दूसरी हरित क्रांति, बिहार, मानव विकास सूचकांक, बिहार में बैंकिंग प्रणाली, प्रति व्यक्ति आय, माइक्रो वित्त।
27 November Geography of Bihar Geological structure of Bihar, Physical division, Soils of Bihar and their problems, Rivers and multi purpose projects, Flood and draughts, Flood and disaster management, GIS, earthquake, बिहार के भूवैज्ञानिक संरचना, भौतिक विभाजन, बिहार की मिट्टी और उनकी समस्याओं, नदियों और बहु प्रयोजन परियोजनाओं, बाढ़ और सुखा , बाढ़ और आपदा प्रबंधन, जीआईएस, भूकंप.
28 November Geography of Bihar Human Geography, Mineral, Sugar, Tourism, Electricity, Transport, Communication, Road, Water resources, wildlife मानव भूगोल, खनिज, चीनी, पर्यटन, बिजली, परिवहन, संचार, सड़क, जल संसाधन, वन्य जीवन
29 November Census of Bihar- 2011 Facts and figures तथ्य और आंकड़े
30 November Tourism in Bihar Important Places, Important Person महत्वपूर्ण स्थानों, महत्वपूर्ण व्यक्ति
1 December  Others Bihar Budgets 2016-17, Economic Surveys, Bihar legislative assembly elections 2015 बिहार बजट 2016-17, आर्थिक सर्वेक्षण, बिहार विधानसभा चुनाव 2015
2 December
Awards and Honours
Sports, literature, important achievements, social awards, technology awards etc
खेल, साहित्य, महत्वपूर्ण उपलब्धियों, सामाजिक पुरस्कार, प्रौद्योगिकी पुरस्कार आदि
19 Current Affairs Related to Bihar, India in general
3  December Important Schemes Related to Bihar specifically, women empowerment, Language, universities, research institution, health,natural resources, environment, conservation.
4 1 December Science
Especially concentrate on Biology