HISTORY OPTIONAL ANSWER WRITING PROGRAMME 17 July 2020

Syllabus: महापाषाणयुगीन संस्कृतियां : सिंधु से बाहर पशुचारण एवम क़ृषि संस्कृतियों का विस्तार,  सामुदायिक जीवन का विकास,  बस्तिया,  क़ृषि का विकास,  शिल्पकर्म,  मृदभांड एवं लोह उद्योग

Meghalithic culture : Distribution of pastoral and farming cultures outside the indus,  development of community life,  settlement,  development of agriculture,  crafts,  pottery and iron industry 

  1. Discuss the extent, settlement petterns and subsistence economy of the megalithic change

महापाषाण संस्कृति के प्रसार, आवासीय प्रतिरूप एवम जीवन यापन की विवेचना कीजिये

2. In what ways can the megalithic culture be considered a foundational phase of the history of peninsular india?

किन अर्थो मे महाश्म संस्कृति को प्रायद्वीपीय भारत के इतिहास का आधारात्मक चरण माना जा सकता है?