45 Day Strategy MODERN India Day 18

आधुनिक भारत (Modern India)

=> #‎टॉपिक का नाम :-

आधुनिक भारत- I (1700-1857)

=>क्या क्या विशेष रूप से पढना है :-

  • प्रशासन के प्रकार (राजस्व, सैन्य) मुगलों की विरासत में मिला प्रशासन। उदाहरण: मनसबदारी प्रथा, जागीरदारी प्रथा – इसका महत्व और प्रभाव
    · ब्रिटिश शासन। उदाहरण: सहायक संधि, स्थायी बंदोबस्त, महलवारी प्रणाली, रैयतवारी प्राणाली आदि – इसके महत्व और प्रभाव
    · मुगल और ब्रिटिश प्रशासन के बीच समानता और विषमता.
    · विभिन्न अधिनियम / कानून के लागू होने के माध्यम से भारत में ब्रिटिश शासन का समेकन
    (रेगुलेशन अधिनियम, 1773 से भारतीय स्वतंत्रता का अधिकार अधिनियम, 1947)।
  • गवर्नर जनरल के कार्य और महत्वपूर्ण गतिविधियाँ
  1. धार्मिक और सामाजिक सुधार आंदोलन (1800 ईस्वी से 1947 तक )
    · वैचारिक आधार – बुद्धिवाद, मानवतावाद और सार्वभौमिकता
    · ब्रह्म समाज, आर्य समाज, थियोसोफिकल सोसायटी, हरिजन की स्तिथि सुधार आंदोलन आदि :- इन आंदोलनों को शुरू करने का कारण, उद्देश्य और किस बात पर जोर था और इनका प्रभाव … भारतीयों में राष्ट्रवाद जागृत करने में योगदान।
    · सामाजिक सुधारों का शिक्षा पर प्रभाव पड़ा, महिलाओं की स्थिति, जाति व्यवस्था और
    समाज पर प्रभाव।

#Sources/ कहाँ से पढना है :-

  1. विपन चंद्रा : भारत का स्वतंत्रता आन्दोलन
  2. स्पेक्ट्रम प्रकाशन की किताब

# PRELIMS19 #UPSC

बीसवां दिन [Day- 20]

=>विषय और टॉपिक / Section & Topic

इतिहास  :- आधुनिक भारत का इतिहास II (1857-1905) (Modern India)

=> टॉपिकस का नाम :-

1. भारत में औपनिवेशिक शासन: राजनीतिक- प्रशासनिक संगठन, ब्रिटिश भारत की नीतियां।
· सामाजिक, आर्थिक नीतियाँ (उदाहरण: स्थायी बंदोबस्त)
· ब्रिटिशकाल की महत्वपूर्ण रिपोर्टस, अधिनियम, समितियां
· विभिन्न विद्रोह / आंदोलन / और संघर्ष

2. 1857 का विद्रोह
· आंदोलन का विषय
· कारण
· आंदोलन का नतीजा और परिणाम
· व्यक्तिव जिन्होंने इस आंदोलन में भाग लिए

3. अन्य प्रसिद्ध आंदोलन और उनमें शामिल व्यक्तित्व

4. प्रेस और साहित्य की भूमिका

‪=>Sources / यहाँ से पढ़ें
1. स्पेक्ट्रम आधुनिक भारत

२. बिपिन चंद्रा (प्लासी के युद्ध से भारत विभाजन तक)