80 Day Planner Day 20- 6 July 2019

1.“” We should remember, however, that this…works only as long as most of us live by an honorable moral compass. Since our trust isn’t grounded in self-interest, it is fragile. And, indeed, we all know of organizations, industries, and even whole societies in which trust has given way either to a destructive free-for-all or to inflexible rules and bureaucracy. Only our individual wills, our determination to do what is right, whether or not it is profitable, save us from choosing between chaos and stagnation.”   Bhid and Stevenson 

Discuss what means to you from above?

हमें याद रखना चाहिए, हालांकि, यह … केवल तब तक काम करता है जब तक कि हम में से अधिकांश एक सम्मानजनक नैतिक कम्पास द्वारा जीते हैं। चूँकि हमारा विश्वास आत्महित में नहीं है, यह नाजुक है। और, वास्तव में, हम सभी संगठनों, उद्योगों और यहां तक कि संपूर्ण समाजों के बारे में जानते हैं, जिनमें ट्रस्ट ने विनाशकारी मुक्त-के लिए या अनम्य नियमों और नौकरशाही के लिए रास्ता दिया है। केवल हमारी व्यक्तिगत इच्छाएँ, जो सही है उसे करने के लिए हमारा दृढ़ संकल्प, चाहे वह लाभदायक हो या न हो, हमें अराजकता और ठहराव के बीच चयन करने से बचाएगा। ”

उपरोक्त कथन से आपका क्या आशय है ?

2.Should an Individual should always to be loyal to organisation? (150 words)

क्या एक व्यक्ति को हमेशा संगठन के प्रति वफादार होना चाहिए?

3.पारम्परीक जड़ताओं को समाप्त करने का स्थान है विद्यालय परन्तु वो स्वयं सामजिक कड़ियों में कार्य कर रहे हैं और यह छात्रों में नैतिकता विकसित करने के लिए प्रतिरोधी है | विवेचना कीजिए |

Schools are the place to break traditional silos but they themselves are working in societal chains and this is counterproductive for developing ethics in students  discuss

4.Is Integrity and financial morality are synonymous to each other?

क्या ईमानदारी और वित्तीय नैतिकता एक दूसरे के पर्याय हैं?